Best Temples

दिलवाड़ा जैन मंदिर Dilwara Temple के छुपे रहस्य क्या हैं?

माउंट आबू के पास स्थित दिलवाड़ा जैन मंदिर (Dilwara Temple in Hindi) प्राचीन भारत की अद्भुत भवन निर्माण कला का अद्भुत उदाहरण हैं। क्‍योंकि इस प्रसिद्ध जैन मंदिर में फोटोग्राफी प्रतिबंधित है, इसीलिए बहुत से लोग इस बेहद ही खूबसूरत मंदिर से अनजान हैं। वैसे तो इंटरनेट पर दिलवाड़ा मंदिर की खूबसूरत तस्वीरें मौजूद हैं, जिन्हें देखकर आप इसकी दिव्य सुंदरता का अंदाजा लगा सकते हैं या फिर वहां जाकर इस मंदिर की अद्भुत वास्तुकला को भी देख सकते हैं।

राजस्थान के सिरोही जिले में माउंट आबू के पास दिलवाड़ा गाँव में स्थित दिलवाड़ा जैन मंदिर (Dilwara Jain Temple in Hindi) की बनावट बहुत ही खूबसूरत हैं। माउंट आबू के सिटी सेंटर से 2 – 3 किलोमीटर की दूरी पर बने ये प्रसिद्ध मंदिर तक पहुँचने के लिए बस और टैक्सी की सुविधा आसानी से उपलब्ध है।

यह मंदिर बाहर से बहुत साधारण दिखता है, लेकिन जब आप इसे अंदर से देखेंगे तो आप इसकी छत, दीवारों और स्तंभों पर बने डिजाइनों को देखकर चकित रह जाएंगे। यह न केवल जैनियों का एक प्रसिद्ध तीर्थ स्थल है बल्कि संगमरमर से बनी एक जादुई और सुन्दर संरचना भी है। जो यहां आने वाले सैलानियों को बार-बार इसे देखने के लिए मजबूर कर देता है। दिलवाड़ा जैन मन्दिर की बनावट को देखने के बाद ताजमहल को भूल जाओगे आप।

कहाँ स्थित है दिलवाड़ा जैन मंदिर (Dilwara Jain Temple)?

Images Source – Wiki

दिलवाड़ा जैन मंदिर मंदिर राजस्थान की अरावली पहाड़ियों के बीच स्थित जैनियों के लिए सबसे सुंदर तीर्थ स्थल में से एक है। इस मंदिर का निर्माण वास्तुपाल तेजपाल ने 11वीं से 13वीं सदी के बीच करवाया था। मंदिर अपनी जटिल नक्काशी और हर कोने पर संगमरमर से सजे होने के लिए प्रसिद्ध है।

दिलवाड़ा जैन मंदिर (Dilwara temple mount abu in Hindi) की खूबसूरती के आगे ताजमहल की खूबसूरती भी फीकी पड़ जाती है। ताजमहल का निर्माण 16वीं शताब्दी में और दिलवाड़ा मंदिर का निर्माण 11वीं से 13वीं सदी के बीच हुआ था। संगमरमर से बना दिलवाड़ा मंदिर की अद्भुत कला और बेहद खूबसूरत के आगे ताजमहल कुछ भी नहीं हैं। जैन धर्म के तीर्थंकरों को को समर्पित यहां कुल 5 खूबसूरत जैन हिन्दू मंदिर हैं।

दिलवाड़ा जैन मंदिर का इतिहास और इसके निर्माण का कारण?

Images Source Wiki

सोलंकी के राजा भीमदेव ने चंद्रावती राज्य में विद्रोह को नियंत्रित करने के लिए अपने महासचिव विमलशाह को भेजा था। विद्रोह को कुचलने में रक्तपात के कारण विमलशाह को बहुत ग्लानि हुई। उन्होंने एक जैन साधक से पूछा कि इस पाप से कैसे छुटकारा पाया जाए और प्रायश्चित किया जाए। जैन साधक ने कहा पाप से पूरी तरह छुटकारा पाना आसान नहीं है, लेकिन मंदिर बनवाने से कुछ पुण्य अवश्य प्राप्त हो सकता है। इसी प्रेरणा से विमलशाह ने इस भव्य जैन मंदिर (Dilwara Jain Temple Mount Abu in Hindi ) का निर्माण कार्य प्रारम्भ किया।

दिलवाड़ा जैन मंदिर का निर्माण किसने करवाया था?

दिलवाड़ा मंदिर 5 जैन मंदिरों का एक समूह है, जिसमें प्रत्येक मंदिर को बनाने वाले अलग हैं।

विमल वसाही का सबसे पुराना मंदिर 1031 में बनवाया गया था। इस मंदिर का निर्माण राजा सोलंकी भीमदेव के महामंत्री विमलशाह ने करवाया था।

लुन वसाही मंदिर का निर्माण 1230 में दो पोरवाल भाइयों वास्तुपाल और तेजपाल ने करवाया था।

पितलहार मंदिर का निर्माण 1468-69 में अहमदाबाद के मंत्री भीमशाह ने करवाया था।

पार्श्वनाथ मंदिर का निर्माण मांडलिक और उनके परिवार ने 1458-59 के दौरान करवाया था।

महावीर स्वामी मंदिर का निर्माण 1582 में हुआ था। यह सबसे छोटा मंदिर है लेकिन इसकी बनावट अद्भुत है।

दिलवाड़ा जैन मंदिर के कुछ रोचक तथ्य

इस भव्य मंदिर को बनाने में कुल 1500 शिल्पकारों और 1200 मजदूरों की मेहनत लगी थी।

दिलवाड़ा मंदिर को बनने में कुल 14 साल लगे और लागत करीब 18 करोड़ रुपये हुए।

ऋषभदेव की पंचधातु की मूर्ति का वजन 4,000 किलोग्राम है जो की पितलहार मंदिर में स्थापित हैं।

विमल वसाही मंदिर में स्थापित आदिनाथ की मूर्ति की आंखें असली हीरे से बनी हैं और उनके गले में बेसकीमती पत्थरों का हार है।

बाहर से सामान्य दिखने वाले इस मंदिर की आंतरिक संरचना बहुत ही अद्भुत है। इस मंदिर में आप बारीक पच्चीकारी और उत्कृष्ट मूर्तिकला का उदाहरण देख सकते हैं।

दीवारों और छत पर बहुत अच्छी नक्काशी की गई है। मूर्तियों के हाव-भाव बेहद जीवंत नजर आ रहे हैं।

इस मंदिर की पालिश इतनी चमकदार होती है कि सैकड़ो साल पुरानी होने के बाद भी नई सी लगती है। संगमरमर में इतनी महीन कारीगरी की गई है कि ऐसा लगता है कि यह कोई पत्थर नहीं बल्कि मोम है। कोई भी आधुनिक मंदिर दिलवाड़ा मंदिर की वास्तुकला का मुकाबला नहीं कर सकता।

Read this also

Best Honeymoon Places in India,
Top Hindu Temples in India,
Top and Famous Tourist Places in India
Beautiful Beaches in India,
Famous and Very Popular Hill Stations in India,

Recent Posts

350 साल पुराना Murud Janjira Fort के पानी का क्या हैं रहस्य

Murud Janjira Fort in Hindi - भारत में दुर्गों की कोई कमी नहीं है, क्योंकि यहाँ अनेक राजाओं ने विभिन्न… Read More

2 weeks ago

What is the Secret of the Water of 350 Year Old Murud Janjira Fort

Very Famous Murud Janjira Fort of Maharashtra - There is no dearth of forts in India, because here many kings… Read More

2 weeks ago

6 प्रसिद्ध भारतीय किले (famous Indian forts) जो समुद्र के पास स्थित हैं।

Famous Indian Forts in Hindi - देश के ऐसे 6 खूबसूरत किलों की सैर करें, जहां से आपको समुद्र के… Read More

2 weeks ago

6 Beautiful Indian Forts which are Situated Near the Sea

6 Famous Indian Forts - Visit 6 such beautiful forts of the country, from where you will see beautiful views… Read More

2 weeks ago

दक्षिण भारत के 5 सबसे प्रसिद्ध मंदिर। 5 most famous temples of South India

5 Most Famous Temples of South India in Hindi, दक्षिण भारतीय मंदिर न केवल भारत में बल्कि पूरी दुनिया में… Read More

3 weeks ago

4 देशों में मुफ्त परिवहन सुविधाएँ का मजा ले सकते हैं।

४ ऐसे देश नहीं लगता घुमने के लिए पैसा, सरकार उठाती है पूरा खर्चा 4 देशों में मुफ्त परिवहन सुविधाएँ… Read More

3 weeks ago